जानिए, क्यों करानी पड़ती है सिजेरियन डिलीवरी ?

हर पुरुष और स्त्री की इच्छा होती है की उसके होने वाले बच्चे की डिलिवरी सामान्य रूप से हो। परन्तु कुछ परिस्थितियों में जब बच्चे की जान को खतरा होता है जब ऑपरेशन से डिलिवरी करवानी पड़ती है। इस स्थिति में डॉक्टर पेट को काटकर बच्चे को गर्भ से बाहर निकालता है। इस स्थिति में महिला को कम से कम 6 दिन तक अस्पताल में रहना पड़ता है।

जब किसी गर्भवती स्त्री को रक्त चाप बढ़ जाता है तब स्त्री के दिमाग की नसें फटने का डर होता है। ऐसी स्थिति में प्रसव सामान्य नही हो पाता और सिजेरियन डिलिवरी करनी पड़ती है। क्योंकि बच्चे की जान के साथ साथ स्त्री की जान को भी खतरा होता है।

जब बच्चा कमजोर होता है या बच्चे की स्थिति सामान्य से उलटी होती है तब भी प्रसव सामान्य नही हो पाता। सिजेरियन प्रसव में महिला के पेट को काटकर टांके लगाये जाते है।

Post Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *